भारत से श्रीलंका को बड़ी आर्थिक मदद: केकेएस पोर्ट के लिए $61.5 मिलियन

0 Comments

भारतीय नौसेना का अग्रणी योगदान देश की सुरक्षा और रक्षा में अविस्मरणीय है। हाल ही में भारतीय नौसेना ने एक और महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए, एलएसएएम 16 (यार्ड 130) श्रृंखला का छठा बजरा ‘एम्युनिशन कम टॉरपीडो कम मिसाइल बार्ज, एलएसएएम 20 (यार्ड 130)’ का लॉन्च किया। यह ऐतिहासिक कदम निजी फर्म सूर्यदीप्त प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा महाराष्ट्र के ठाणे में उत्पादित किया गया है।

इस बजरे का लॉन्च समारोह सूर्यदीप्त प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के लॉन्च स्थल पर हुआ, जो एक नए उत्कृष्टता के प्रतीक के रूप में उभर रहा है। इस समारोह की अध्यक्षता की गई जिन्होंने यह इतिहासी पल को और भी महत्वपूर्ण बना दिया।

एमआरबीएस विकसित यह नया बजरा नौसेना के युद्ध तंत्र को और भी मजबूत और अधिक प्रभावी बनाएगा। इसके द्वारा, नौसेना अपने समुद्री क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता को बढ़ावा देगी, जिससे देश की स्थिरता और अभिन्नता का रक्षण होगा।

इस लॉन्च समारोह ने स्पष्ट किया कि भारतीय नौसेना तकनीकी उत्कृष्टता और अद्वितीय क्षमताओं में अग्रणी है। यह नया बजरा उसकी युद्ध क्षमता को और भी उच्च स्तर पर ले जाने में मदद करेगा, जो कि अन्य राष्ट्रों के प्रति हमारे सामरिक प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

भारतीय नौसेना की इस नई पहल का स्वागत है, जो देश को समुद्री क्षेत्र में और भी मजबूत बनाए रखने का संकल्प करती है। यह एक महत्वपूर्ण कदम है जो नौसेना की युद्ध क्षमता और प्रतिबद्धता को मजबूत करेगा, और देश की सुरक्षा और समृद्धि को सुनिश्चित करने में मदद करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.